चित्रा Meaning in English

चित्रा Meaning in Hindi

  1. 2. एक वर्णवृत्त जिसमें सोलह वर्ण होते हैं
Usage

1. चित्रा में पहले तीन नगण, फिर दो यगण होते हैं ।

Hypernyms
  1. 3. एक रागिनी
Usage

1. चित्रा भैरव राग की सहचरी मानी जाती है ।

Synonyms
Hypernyms
  1. 4. वह काल जब चंद्रमा चित्रा नक्षत्र में होता है
Usage

1. स्वाति का जन्म चित्रा नक्षत्र में हुआ है ।

Synonyms
Hypernyms
  1. 5. सत्ताईस नक्षत्रों में से एक
Usage

1. चित्रा चन्द्रमा के पथ पर पड़नेवाला चौदहवाँ नक्षत्र है ।

Synonyms
Hypernyms
  1. 6. अर्जुन की एक पत्नी
Usage

1. सुभद्रा कृष्ण और बलराम की बहन थीं ।

Synonyms
Hypernyms
  1. 7. एक छंद जिसकी पाँचवीं, आठवीं और नौवीं मात्रा लघु एवं अंतिम मात्रा गुरु होती है
Usage

1. चंचला के प्रत्येक चरण में सोलह मात्राएँ होती हैं ।

Synonyms
Hypernyms
 
चित्रा meaning in Hindi, Meaning of चित्रा in English Hindi Dictionary. Pioneer by www.aamboli.com, helpful tool of English Hindi Dictionary.
 

Related Similar & Broader Words of चित्रा

देवांगना,  वीरभद्रक,  फञ्जी,  चक्रदंती,  वस्त्रभूषणा,  गंड-दूर्वा,  सरग-तिय,  दीपनीया,  वस्त्ररंजनी,  पेड़,  तरु,  अजवाईन,  वर्ण-वृत्त,  सर्पदंष्ट्री,  सुरकामिनी,  वीरभद्र,  सर्पदंष्ट्रा,  शिखरी,  योजनवल्ली,  बस्तमोदा,  साखी,  भंडीरी,  प्रतिबन्धक,  बीज,  अमरांगना,  अरुन,  अरुण,  कंचनी,  विषभद्रा,  वल्लिका,  विषभद्रिका,  वृत्त,  महावरा,  साखि,  गंड दूर्वा,  मजीठ,  अजगन्धा,  वर्ण वृत्त,  वर्णिकवृत्त,  रक्तांगी,  वृषा,  विटप,  तृण,  वेदवती,  जर्ण,  अमन्द,  मूसाकानी,  विक्रांता,  लामज्जक,  स्कंधा,  वृश्चिकर्णी,  स्कंधी,  देवाङ्गना,  रोचनी,  मूसाकानी लता,  मात्रिक छन्द,  शूलहंत्री,  त्वाष्ट्र,  रक्तयष्टि,  रागनी,  अरुणप्रिया,  वल्लरि,  वल्लरी,  दंती,  अजवाइन,  रतिमदा,  वर्णिक छंद,  फंजिपत्रिका,  अजमोदा,  रुक्ष,  त्वाष्ट्री,  सारंग,  गंडाली,  वर्णिकछंद,  उड़ु,  बल्ली,  वेल्लि,  रक्तालता,  वर्णिक वृत्त,  मुकुलक,  वल्लि,  यवानी,  चित्रा नक्षत्र,  वल्ली,  भण्डीतकी,  तरुवर,  पौराणिक औरत,  दरख़्त,  गण्ड दूर्बा,  रागिणी,  नछत्र,  मण्डूकपर्णी,  मोहना,  अजमोदिका,  पौराणिक महिला,  उग्रगंधा,  अग,  शंखिनी,  अप्सरा,  फञ्जिपत्रिका,  भण्डीरी,  तीव्रगंधा,  मंजिष्ठा,  उग्रगन्धा,  वीरुध,  गंड दूर्बा,  नख्ल,  स्कन्धी,  स्कन्धा,  चंचला,  गाँडर दूब,  वातारि,  लांगली,  हेमपुष्पी,  पौराणिक स्त्री,  अनोकह,  बीया,  रागांगी,  अमंद,  बेल,  त्रिदशवधू,  अजमूद,  तीव्रा,  खर,  गाडर दूब,  वर्णवृत्त,  यमानिका,  रूखड़ा,  बीरो,  ब्रह्मदर्भा,  गण्डदूर्वा,  अपछरा,  खस,  दंत-मूलिका,  न्यग्रोधिका,  समंगा,  गाँडर,  पत्रश्रेणी,  सुभद्रा,  ब्रह्ममंडूकी,  भंडीरलतिका,  मात्रिक छंद,  अजगंधा,  घास,  वर्णिक छन्द,  दन्त-मूलिका,  जटामाँसी,  गंडदूर्वा,  स्पर्शानंदा,  गण्ड-दूर्बा,  दिव्यस्त्री,  पल्लवी,  मूषाकर्णी,  मंडूका,  वस्तमोदा,  सात्वती,  गंड-दूर्बा,  ब्रह्ममण्डूकी,  मूषिकपर्णी,  ताम्रवल्ली,  वृश्यचण्डी,  वार्णिक छन्द,  चित्रपर्णी,  रक्ता,  शिखी,  आहार मसाला,  मीनाक्षी,  रागिनी,  उड़ुचर,  व्रतती,  मण्डूका,  व्रतति,  मीननेत्रा,  मंडूकपर्णी,  यमानी,  उंदुरकर्णी,  गाडर,  वार्णिक छंद,  मालादूर्वा,  दरख्त,  ब्रह्मरूपक,  अमरस्त्री,  वर्णिक-वृत्त,  अर्क,  विक्रान्ता,  तीव्रगन्धा,  पादप,  फंजी,  दिव्यांगना,  नख़्ल,  हस्ती,  दिव्याङ्गना,  स्वर्वेश्या,  रूख,  योजनपर्णी,  अघ्रिप,  भंडीतकी,  लती,  लता,  शिखिमोदा,  वरांगी,  प्रतिबंधक,  शाद,  पौराणीय महिला,  स्पर्शानन्दा,  नलद,  विशाकर,  रूखरा,  गगनाङ्गना,  गण्डदूर्बा,  देवगणिका,  वीरण,  चक्रदन्ती,  चित्रा रागिनी,  रूँख,  पौधा,  शस्य,  वारितर,  दन्ती,  ब्रह्मकुशा,  भूतिक,  देव नर्तकी,  यूका,  वृषपर्णी,  अजवायन,  शिफा,  मसाला,  अजमोद,  शीघ्र,  आसना,  उग्रा,  अरुणा,  गण्ड दूर्वा,  मूषककर्णी,  भण्डीरलतिका,  मिषिका,  द्रुम,  भूमिजात,  उशीर,  वर्णिकछन्द,  स्वर्गवेश्या,  गगनांगना,  गण्ड-दूर्वा,  शंकरा,  ब्रह्मकोशी,  शूलहन्त्री,  तीव्रगन्धिका,  वृश्यचंडी,  विटपी,  पत्रशृंगी,  शंकरी,  अमराङ्गना,  गंडदूर्बा,  वृक्ष,  तीव्रगंधिका,  आकाशचारी,  न्यग्रोधी,  दीपनी,  पुलाकी,  अवदान,  न्यग्रोधा,  वीज,  नागस्तोफा,  पौदा,  नक्षत्र,  स्वर्वधू,  अवदाह,