तार्क्ष्य Meaning in English

तार्क्ष्य Meaning in Hindi

  1. 2. दो या चार पहियों की एक प्रकार की पुरानी सवारी गाड़ी जिसे घोड़े खींचते हैं
Usage

1. महाभारत के युद्ध में भगवान कृष्ण अर्जुन के सारथी बने और उनका रथ हाँका ।

Synonyms
Hypernyms
Hyponyms
  1. 6. सींगरहित एक चौपाया जो गाड़ी खींचने और सवारी के काम में आता है
Usage

1. राणा प्रताप के घोड़े का नाम चेतक था ।

Synonyms
Hypernyms
Hyponyms
  1. 7. एक बहुमूल्य पीली धातु जिसके गहने आदि बनते हैं
Usage

1. आजकल सोने का भाव आसमान छू रहा है। / चैतन्य महापुरुष के शरीर से स्वर्ण जैसी आभा निकलती थी ।

Synonyms
Hypernyms
Hyponyms
  1. 8. सरीसृप वर्ग का एक रेंगने वाला पतला और लंबा जीव जिसकी कई जातियाँ पायी जाती हैं
Usage

1. प्रायः आई आई टी बॉम्बे में कई तरह के ज़हरीले साँप रेंगते हुए देखे जा सकते हैं ।

Synonyms
Hypernyms
Hyponyms
 
तार्क्ष्य meaning in Hindi, Meaning of तार्क्ष्य in English Hindi Dictionary. Pioneer by www.aamboli.com, helpful tool of English Hindi Dictionary.
 

Related Similar & Broader Words of तार्क्ष्य

दिव्यसार,  वर्णि,  मनोहर,  रसाञ्जन,  सुवरन,  सिन्धुसर्ज,  रसराज,  द्विजपति,  घोटक,  फणधर,  असुरारि,  पतगेन्द्र,  अश्मकर,  द्युनिवास,  द्विजेश,  सर्प,  अश्व,  पेलि,  पेली,  साखू,  त्रिनेत्र,  अरुन,  अरुण,  सालवृक्ष,  रसविरोधक,  शालवृक्ष,  कांचन,  विशालक,  अलल्लां,  विवस्वान,  अलल्लाँ,  रक्तकङ्गु,  रसोद्भव,  सुवर्ण,  अमृताहरण,  पुराणीय जीव,  वृंदारक,  काञ्चन,  भुअंग,  रसाग्रज,  दरमन,  तारख,  शातकुम्भ,  सेखुआ,  अमानुष,  शातकौम्भ,  कञ्चन,  अनूरु,  देव,  दवा-दारू,  सिंधुसर्ज,  वृषल,  अश्व यान,  चक्रचारी,  विषदंतक,  अजकर्ण,  साकोह,  शतकौम्भक,  तारखी,  दवा,  अग्नि,  आभोग,  सर्पारि,  घोट,  अभ्र,  शतखण्ड,  दृक्कर्ण,  अदित,  तार्क्ष,  पतगेंद्र,  दीर्घरसन,  सारंग,  आशीविष,  नीलच्छद,  रवि सारथी,  शुक्र,  दैत्यारि,  दत्र,  रंजन,  भूतकृत,  शतखंड,  वातप्रमी,  भद्र,  अगद,  अर्वण,  पौराणिक जीव,  औषधि,  अवष्टंभ,  दनुजारि,  केहरी,  सरीसृप जन्तु,  तार्क्षज,  दारू,  शेव,  खगपति,  श्वसनाशन,  शातकुंभ,  शौंगेय,  शालिहोत्र,  खगकेतु,  अमृतबन्धु,  योग,  मराल,  दैवत,  वीरुध,  जैत्र,  पवनाश,  रमण,  राल,  रसवत,  औषध,  भैषज्य,  लांगली,  प्रबलाकी,  अहि,  फणी,  पुलिरिक,  साल,  प्रवलाकी,  नागांतक,  वैनतेय,  घोड़ा,  सर्व,  दवाई,  कंचन,  शंकुवृक्ष,  शंकुतरु,  वसु,  पशुपति,  श्वेतरोहित,  कनक,  त्रिदिवौकस,  अमृताशन,  श्रीमत्कुम्भ,  गोल्ड,  अमृतबंधु,  पत्ररथेन्द्र,  विशालाक्ष,  माषाश,  वज्रजित्,  तुरंग,  सवारी पशु,  शतकुम्भ,  भट्टारक,  गारुड़,  अश्व-यान,  गरुण,  अवष्टम्भ,  मेडिसिन,  श्रीमत्कुंभ,  अहिरिपु,  शतकौम्भ,  दीर्घपृष्ठ,  भुअंगम,  मरुत्,  पुरुद,  विवुध,  अनलमुख,  अमृततप,  वरूथी,  दिवौका,  तुरग,  रसोत,  शालसार,  परुद्वार,  सखुआ,  हय,  घोड़ा-गाड़ी,  श्रीपुत्र,  शिखी,  त्रिदश,  रसाग्य,  लताशंख,  रञ्जन,  त्सरु,  आदितेय,  रसौत,  द्युनिवासी,  जैवातृक,  शतकुंभ,  युयु,  मारुताशन,  पौराणीय जीव,  सोना,  काश्यप,  होबार,  फणिक,  ययु,  ययी,  रसोद्भूत,  पवनाशन,  देवता,  शाल,  वीरुधा,  अर्घ,  बहुमूल्य धातु,  जरणद्रुम,  पत्रतिराज,  केशी,  सुचिरायु,  वीरवह,  केसरी,  विषधर,  सुर,  अघविष,  तार्क्ष्यप्रसव,  जोग,  देवक,  विषदन्तक,  प्लवग,  वस्तकर्ण,  अजंघ,  नागान्तक,  नभश्चर,  कुशिक,  दरमान,  सरीसृप जीव,  स्वर्ण,  विश्वप्स,  व्याल,  विषानन,  रैवंता,  पवनाशी,  आग्नेय,  कुण्डली,  अपत्यशत्रु,  द्विजेंद्र,  अरघ,  पन्नग,  भैषज,  फुनिंग,  भुजंग,  शक्रदारु,  गीर्वाण,  साँप,  अश्वरथ,  पत्ररथेंद्र,  अमर,  त्रिदिवेश,  तुरंगम,  हिरण्य,  वृषण,  रक्तकंगु,  अर्ह,  हयंद,  कुंडली,  अश्व-रथ,  भेषज,  ज़र,  वरवर्ण,  सर्जक,  अंबरौका,  रसनिर्यास,  अर्ण,  अरुणाग्रज,  हेमांग,  लेलिहान,  सरीसृप,  गरुड़,  मधुप,  अमृतसहोदर,  अष्टापद,  तार्क्ष्यज,  अश्वयान,  ऋभु,  रसांजन,  चक्रपाद,  घोड़ागाड़ी,  घोड़ा गाड़ी,  द्विजेन्द्र,  केशरी,  शिलानीड़,  हेम,  उरंग,  अनिलाशी,  प्रयोग,  शतकौंभ,  काश्यपि,  पतंगेंद्र,  आकाशचारी,  कर्कटी,  हाटक,  शतकौंभक,  नागवारिक,  रक्तपक्ष,  रथ,  श्वसनोत्सुक,  द्विरसन,  तार्क्ष्यशैल,  शाल्मली,  लेलिह,  चामीकर,  तामरस,  आचरण,  आदित्य,  शातकौंभ,