त्रिलोकेश Meaning in English

त्रिलोकेश Meaning in Hindi

  1. 2. धर्मग्रंथों द्वारा मान्य वह सर्वोच्च सत्ता जिसे सृष्टि का स्वामी माना जाता है
Usage

1. ईश्वर सर्वव्यापी है । / ईश्वर हम सबके रक्षक हैं ।

Synonyms
Hypernyms
Hyponyms
  1. 3. हिन्दुओं के एक प्रमुख देवता जो सृष्टि का पालन करने वाले माने जाते हैं
Usage

1. राम और कृष्ण विष्णु के ही अवतार हैं ।

Synonyms
Hypernyms
Hyponyms
 
त्रिलोकेश meaning in Hindi, Meaning of त्रिलोकेश in English Hindi Dictionary. Pioneer by www.aamboli.com, helpful tool of English Hindi Dictionary.
 

Related Similar & Broader Words of त्रिलोकेश

कमलेश्वर,  खगासन,  अधीश,  कामद,  महेन्द्र,  अब्धिशयन,  अम्बरीष,  हाकिम,  असुरारि,  नारायण,  विश्वनाभ,  जीवेश,  सुरेश,  अधीश्वर,  इसर,  अधिपति,  चिन्मय,  द्युनिवास,  परमेश्वर,  ईसर,  रमाधव,  दीनबन्धु,  अन्नाद,  शारंगपाणि,  आग़ा,  तोयात्मा,  सर्वोच्च सत्ता,  कर्त्ता,  अधिप,  विश्वगर्भ,  अर्य्य,  अन्तर्यामी,  रमाकांत,  शुद्धोदनि,  भवेश,  जगन्नियन्ता,  वृंदारक,  स्वामी,  कर्ता,  भगवान,  स्वर्णबिंदु,  व्यंकटेश्वर,  विश्वबाहु,  चिन्तामणि,  वंश,  पद्मनाभ,  अधिपुरुष,  अवगति,  विश्वात्मा,  फणितल्पग,  अमानुष,  विश्वभर्ता,  अन्तर्ज्योति,  अधिभू,  लक्ष्मीपति,  विश्वधाम,  परम सत्ता,  देव,  दीन-बन्धु,  धोरी,  परमपिता,  सत्य-नारायण,  अखिलेश्वर,  जनार्दन,  परमानन्द,  कमलेश,  श्रीकान्त,  कैटभारि,  शिखंडी,  विश्वपति,  आका,  कर्ता-धर्ता,  क़िबला-आलम,  अव्यय,  इलाही,  अंतर्यामी,  जगदानंद,  अदित,  नित्यमुक्त,  ख़ालिक़,  आदिकर्ता,  सावित्र,  लक्ष्मीकान्त,  शारंगपानि,  दैत्यारि,  गरुड़गामी,  देवेश्वर,  महेंद्र,  प्रधानात्मा,  भूतकृत,  अखिलेश,  सर्वोच्च शक्ति,  त्रिलोकनाथ,  कमलनाभि,  बोधि,  पद्म-नाभ,  विश्वभावन,  कमलापति,  अभीक,  दनुजारि,  ऊपरवाला,  दई,  विश्वकाय,  कर्ताधर्ता,  सारंगपाणि,  चिदाकाश,  आक़ा,  आगा,  हृषिकेश,  अब्धिशय,  हिरण्यगर्भ,  अमृतबन्धु,  योग,  दैवत,  श्रीश,  विश्वभाव,  दम,  भगवान्,  वर्द्धमान,  विश्वम्भर,  सर्व,  सुप्रसाद,  योजन,  त्रयीमय,  रमारमण,  वसु,  खालिक,  जगदीश,  त्रिदिवौकस,  वैकुंठनाथ,  सर्वेश्वर,  अमृताशन,  अमृतबंधु,  कर्ता धर्ता,  मंगलालय,  इश्व,  चक्रेश्वर,  खरारि,  त्रिलोकी,  धंवी,  नाथ,  माधव,  खरारी,  किबलाआलम,  चिरंजीव,  भट्टारक,  शतानन्द,  रमानाथ,  अंतर्ज्योति,  वरेश,  जगन्निवास,  आज्ञापक,  चक्रपाणि,  विश्वभुज,  सद्गुरु,  देवेश,  बैकुंठनाथ,  विवुध,  अनलमुख,  अमृततप,  त्रिविक्रम,  दिवौका,  अमरप्रभु,  भवधरण,  वैश्वानर,  इंदिरा रमण,  दिव्य शक्ति,  त्रिलोकपति,  रमेश,  श्रीकांत,  प्रभु,  वासु,  ईश्वर,  महानारायण,  परमानंद,  त्रिदश,  श्रीरमण,  मालिक,  दीनानाथ,  हरि,  आदिकर्त्ता,  ईश,  शिखण्डी,  विष्णु,  श्रीनाथ,  आदितेय,  ईस,  रमानिवास,  द्युनिवासी,  चक्रधर,  धाम,  दीनबंधु,  विश्वधर,  जगत्सेतु,  दामोदर,  दहराकाश,  वर्धमान,  सहस्रचित्त,  डाकोर,  भगवत्,  विश्वंभर,  तमोनुद,  देवता,  बोध,  ज्ञान,  हृषीकेश,  महागर्भ,  केशव,  संज्ञान,  सुचिरायु,  जनेश्वर,  सुर,  जगद्योनि,  ईशान,  श्रीनिवास,  वारुणीश,  बाणारि,  अक्षर,  जगन्नाथ,  जोग,  किबला-आलम,  सहस्रजित्,  देवक,  चिंतामणि,  धन्वी,  नभश्चर,  करतार,  विधु,  विश्वप्स,  रमापति,  संज्ञा,  कुण्डली,  विभु,  गरुड़ध्वज,  सहस्रचरण,  सांई,  धातृ,  गीर्वाण,  क़िबलाआलम,  त्रिपाद,  विश्वपा,  रत्ननाभ,  परमात्मा,  अमर,  जगन्नियंता,  त्रिदिवेश,  शेषशायी,  जगन्,  मधुसूदन,  कुंडली,  अर्य,  ठाकुरजी,  भान,  अंबरौका,  करुण,  महाभाग,  अवभास,  वसुधाधर,  कमलनाभ,  सत्यनारायण,  अशरीर,  जगदाधार,  अनीश,  त्रिलोकीनाथ,  वीरबाहु,  सतगुरु,  श्रीपति,  महाक्ष,  लक्ष्मीकांत,  रमाकान्त,  जाने-जाँ,  मधुप,  अखिलात्मा,  विश्वप्रबोध,  शतानंद,  जगदीश्वर,  आदिकारण,  ऋभु,  विधाता,  देवाधिदेव,  कमलनयन,  ठाकुर,  स्वर्णबिन्दु,  आकाशचारी,  विश्वनाथ,  कर्तार,  पुंडरीकाक्ष,  हिरण्यकेश,  अवबोध,  अविनश्वर,  साँई,  जाने-जहाँ,  अवगम,  आदित्य,  अंबरीष,  गजाधर,  अच्युत,