ध्वांतशत्रु Meaning in English

ध्वांतशत्रु Meaning in Hindi

  1. 1. जलती हुई लकड़ी, कोयला या इसी प्रकार की और कोई वस्तु या उस वस्तु के जलने पर अंगारे या लपट के रूप में दिखाई देने वाला प्रकाशयुक्त ताप
Usage

1. आग में उसकी झोपड़ी जलकर राख हो गई ।

Synonyms
Hypernyms
Hyponyms
Antonyms
  1. 2. हमारे सौर जगत का वह सबसे बड़ा और ज्वलंत तारा जिससे सब ग्रहों को गर्मी और प्रकाश मिलता है
Usage

1. सूर्य सौर ऊर्जा का एक बहुत बड़ा स्रोत है। / पूर्व से सूर्य को आते देख तिमिर दुम दबाकर भागने लगा ।

Synonyms
Hypernyms
Hyponyms
 
ध्वांतशत्रु meaning in Hindi, Meaning of ध्वांतशत्रु in English Hindi Dictionary. Pioneer by www.aamboli.com, helpful tool of English Hindi Dictionary.
 

Related Similar & Broader Words of ध्वांतशत्रु

वसुनीथ,  भूताक्ष,  अनड्वान्,  दिवस्पति,  आतिश,  मरीची,  मलिनमुख,  दिवावसु,  दाढ़ा,  नैसर्गिक वस्तु,  पुष्कर,  नभोमणि,  अंशुमाली,  अरुणसारथी,  वह्नि,  वैश्वानर,  राजन्य,  आफ़ताब,  गभस्ति,  ध्वान्ताराति,  विंगेश,  अब्जहस्त,  दीप्तकिरण,  स्वप्ननंशन,  पद्मिनीकान्त,  त्रयीतन,  तिग्मगर,  पद्मगर्भ,  तपुर्जम्भ,  दिवसेश,  शिखी,  शिखि,  सूरज,  अगिया,  शुचि,  चक्रबान्धव,  अफताब,  अमिताशन,  दीप्तांशु,  परिजन्मा,  दिनकर,  सूर्य,  दिवसकृत,  बहनी,  भारत,  अरुन,  नभश्चक्षु,  अरुण,  जगन्नु,  प्राकृतिक वस्तु,  भास्कर,  चक्रबांधव,  दिनअर,  तनूनपाद्,  आतश,  दिनेश,  सहस्रगु,  अगिर,  वृष्णि,  तमोनुद,  आश्रयास,  तिमिररिपु,  कालेश,  अवि,  अर्क,  पद्मबन्धु,  अवबोधक,  तपस,  द्यु,  कालकवि,  तपु,  तिमिरहर,  पर्परीक,  अशिर,  अर्दनि,  दिवसनाथ,  तमोहपह,  आशर,  मार्तण्ड,  वेदात्मा,  तारा,  गभस्तिपाणि,  गभस्तिहस्त,  दिवाकर,  अग्नि,  अफ़ताब,  विहंग,  नभश्चर,  अविनीश,  पद्मिनीवल्लभ,  अगनी,  ध्वान्तशत्रु,  विश्वप्स,  द्युम्न,  तनूनपात्,  यमसू,  पद्मबंधु,  जगत्साक्षी,  अदित,  विहग,  प्रभाकर,  लघुलय,  चक्रबन्धु,  तुंगीश,  केश,  तीक्ष्णांशु,  शुक्र,  आज्यमुक,  गोकर,  द्युपति,  सहस्रकिरण,  अगन,  तीक्ष्णरश्मि,  वेद,  दाहक,  पावक,  नभस्मय,  स्टार,  अनिलसखा,  हुतासन,  खगपति,  आगी,  आगि,  बाहुल,  अग,  चित्रभानु,  दिवसेश्वर,  अरणी,  वर्हा,  गविष्ठ,  अरणि,  आफताब,  निर्मुट,  अयुग्मवाह,  हृषु,  पद्मिनीश,  नीलपृष्ठ,  भानु,  मार्तंड,  शीघ्रग,  अगिन,  सविता,  अय,  अंबु तस्कर,  सोमगोपा,  आग,  पद्मिनीकांत,  यविष्ठ,  तपुर्जंभ,  त्रयीमय,  वसु,  दिव्यांशु,  पशुपति,  हेमकेली,  दिवामणि,  दिवसकर,  जल्ह,  अगिआ,  बरही,  अंबुतस्कर,  धरुण,  विश्वप्रकाशक,  मिहिर,  अनल,  ध्वांताराति,  आशुशुक्षणि,  अंशुमान,  दिवसभर्ता,  वरेय,  अब्जबाँधव,  पवन-वाहन,  रवि,  आदित्य,  तिमिरारि,  चक्रबंधु,