मतंग (mataMga) Meaning in English

Noun

  1. 1. an elephant

मतंग (mataMga) Meaning in Hindi

  1. 2. एक पौराणिक ऋषि
Usage

1. शबरी मतंग की शिष्या थी ।

Synonyms
Hypernyms
  1. 3. एक शाकाहारी स्तनपायी चौपाया जो अपने स्थूल और विशाल आकार तथा सूँड़ के कारण सब जानवरों से विलक्षण होता है
Usage

1. हाथी को गन्ना बहुत ही प्रिय है ।

Synonyms
Hypernyms
Hyponyms
  1. 4. पृथ्वी पर के जल से निकली हुई वह भाप जो घनी होकर आकाश में फैल जाती है और जिससे पानी बरसता है
Usage

1. आकाश में काले-काले बादल छाये हुए हैं ।

Synonyms
Hypernyms
Hyponyms
 
मतंग meaning in Hindi, Meaning of मतंग in English Hindi Dictionary. Pioneer by www.aamboli.com, helpful tool of English Hindi Dictionary.
 

Related Similar & Broader Words of मतंग

पिंडपाद्य,  वेदंड,  सेंचक,  नैसर्गिक वस्तु,  धारावर,  असुर,  विराणी,  ह्रस्वकर्ण,  अंभोधर,  लम्बकर्ण,  रक्तग्रीव,  यातुधान,  अश्म,  सूचिकाधर,  द्विप,  द्विराप,  शुंडी,  पाथोद,  महादंत,  अंबुधर,  कर्बुर,  हैवान,  पिण्डपाद,  नभोध्वज,  अंतःस्वेद,  वर्षाबीज,  नृमर,  अमानुष,  पाथोधर,  जानवर,  रेवाउतन,  धाराधर,  मतंगज,  ध्वांतचर,  आसर,  दात्यूह,  द्विरद,  अशिर,  आशर,  तोक्म,  रजनीचर,  पीलु,  वातध्वज,  विहंग,  जलद,  अभ्र,  भसुंद,  मुनि,  जलाकांक्ष,  मेघ,  फील,  द्रुमारि,  मेचक,  वर्षुकाम्बुज,  ध्वसनि,  कैकस,  नभोदुह,  अनलपंखचार,  रात्रिबल,  दैत,  मेह,  रात्रिमट,  आस्रप,  वीरमंगल,  कुञ्जल,  रैनचर,  पाथोदर,  अब्र,  जलधर,  कर्बर,  मितंग,  अब्द,  पलाद,  निशाविहार,  पील,  श्वेतनील,  दैत्य,  नैकषेय,  वातरथ,  दतिसुत,  उदधि,  गयन्द,  राक्षस,  कीलालप,  सुदामा,  तमीचर,  नैऋत,  अम्भोधर,  नदनु,  अंबर,  सेचक,  तोयधार,  नाग,  वर्षुकांबुज,  गज,  पिण्डपाद्य,  शारद,  वलाहक,  मेघा,  गज्जू,  अम्बुधर,  अर्बुद,  हाथी,  तोयद,  जलवाह,  अश्रय,  रैवत,  तड़ित्वान्,  सुदामन,  शक्रवाहन,  वर्षकर,  इभ,  निशिचर,  पयोद,  सिंधुर,  ऋषि,  घन,  लंबकर्ण,  गयंद,  मातंग,  रजलवाह,  नभोगज,  नीलभ,  इंद्र,  तड़ित्वत,  अंबुद,  मत्तकीश,  करेणु,  जातुधान,  धाराट,  तमचर,  चातकनन्दन,  रक्तप,  नैरृत,  धूमयोनि,  वृहदंग,  प्राकृतिक वस्तु,  नभोद्वीप,  अम्बर,  नीरद,  तड़ित्पति,  वृष्णि,  अपदेवता,  पलादन,  ध्वान्तचर,  पशु,  अविबुध,  देवारि,  स्त्रीध्वज,  हस्ती,  हस्ति,  आप्त,  नभोधूम,  वर्षुकानन्द,  नभधुज,  फ़ील,  पिंडपाद,  तोयमुच,  नरांश,  नभश्चर,  वरांगी,  महानाद,  श्वेतमाल,  तोयधर,  पयोधर,  सिन्धुर,  तमाचारी,  अनुशर,  सत्रि,  अर्णोद,  पलंकष,  तड़िद्गर्भ,  तरन्त,  बादल,  मतंग ऋषि,  कुंजर,  अन्तःस्वेद,  कुंजल,  तरंत,  रेरिहान,  दानव,  भव,  शुण्डाल,  सुरद्विष,  वाज,  लतालक,  वेदण्ड,  वर्षुकानंद,  वारिद,  करि,  इन्द्र,  निशाचर,  दीर्घमारुत,  पयोजन्मा,  अम्बुद,  वारीट,  कीलाल,  नभध्वज,  निषकपुत्र,  आकाशचारी,  सुदाम,  चातकनंदन,  जलमसि,  त्रिदशारि,  द्विहन्,  चौआ,  शुंडाल,  चौपाया,  वारिधर,