रक्तांग Meaning in English

रक्तांग Meaning in Hindi

  1. 1. ठंडे देश में होने वाले केसर के पौधे के फूल का सींक या तंतु जैसा पुष्पांग जिनसे उत्कृष्ट सुगंध निकलता है
Usage

1. मुझे केसर डली कुल्फ़ी बहुत पसंद है ।

Synonyms
Hypernyms
Hyponyms
  1. 2. एक कीड़ा जो मैली खाटों,कुरसियों आदि में रहता है
Usage

1. खटमलों के काटने की वजह से मैं रात भर सो नहीं सका ।

Synonyms
Hypernyms
  1. 4. लाल रंग का एक छोटा ग्रह जो दूरी के हिसाब से सूर्य से चौथे स्थान पर है
Usage

1. वैज्ञानिक मंगल ग्रह के बारे में और अधिक जानकारी प्राप्त करने में लगे हुए हैं । / मंगल ग्रह को अवनि अर्थात् पृथ्वी का पुत्र माना गया है ।

Synonyms
Hypernyms
 
रक्तांग meaning in Hindi, Meaning of रक्तांग in English Hindi Dictionary. Pioneer by www.aamboli.com, helpful tool of English Hindi Dictionary.
 

Related Similar & Broader Words of रक्तांग

उत्कुण,  मुक्तचंदन,  पल्लवी,  खटमल,  मंगलग्रह,  केसर,  अंगारक,  पेड़,  तरु,  मिरंगा,  दारुसार,  शिखरी,  पिण्याक,  शिखी,  याम्य,  साखी,  प्रतिबन्धक,  रञ्जन,  सिंधुलताग्र,  जवाहर,  महीसुत,  कुसुंभ,  भूमिज,  चारु,  भू-सुत,  दरख्त,  खटकीड़ा,  साखि,  ताम्रवृक्ष,  रत्न,  रत्नकन्दल,  रक्तसार,  संदल,  विटप,  केशर,  रक्ताकार,  नगीना,  रक्त,  जर्ण,  चन्दन,  अर्क,  अजपति,  अर्कचन्दन,  पुष्पांग,  श्रीवास,  अमन्द,  रक्तकन्द,  आषाढ़ाभू,  पादप,  आरक्त,  स्कंधी,  सिन्धुलताग्र,  रक्तार्क,  मालय,  नख़्ल,  महागंध,  निनाया,  नीलांगु,  हेमकंदल,  पुष्प भाग,  रूख,  मत्कुण,  अघ्रिप,  हेम्न,  पीलु,  भौम,  श्रीवासक,  प्रतिबंधक,  कुंकुम,  विहग,  रुक्ष,  जाफरान,  सारंग,  रूखरा,  रक्तपायी,  उड़ुस,  रत्नकंदल,  रक्त चंदन,  हेमकन्दल,  गंधराज,  तिलपर्णी,  रक्ताङ्ग,  रंजन,  जौहर,  तरुवर,  रत्नद्रुम,  रक्तकंद,  रक्त-वर्ण,  दरख़्त,  रूँख,  खटकीरा,  कीट,  रतन,  लसा,  रक्तचन्दन,  वेर,  जवाहिर,  सर्पेष्ट,  ताम्रसार,  कल्क,  लोहितांग,  अर्कचंदन,  ताम्रसारक,  रेजा,  विद्रुम,  यूका,  चंदन,  लाल चन्दन,  अग,  आसना,  अब्धिसार,  मुक्तचन्दन,  भौमरत्न,  रक्तावत,  केशट,  अर्णव,  द्रुम,  नख्ल,  मूँगा,  मंगल,  भूसुत,  खग,  स्कन्धी,  भूमिजात,  अनोकह,  प्रबालफल,  अमंद,  रक्तकन्दल,  ज़ाफ़रान,  आवनेय,  ग्रह,  रक्तचंदन,  समुद्रज,  मलयज,  सित,  विटपी,  कालीयक,  ताम्राभ,  रूखड़ा,  मंचकाश्रय,  बीरो,  तिलपर्णिका,  वृक्ष,  कुमकुम,  कीड़ा,  आकाशचारी,  रक्तकंदल,  पुलाकी,  नग,  रुचिरा,  मंगल ग्रह,  कुज,  भूमिपुत्र,  लाल चंदन,  प्रवाल,  कुसुम्भ,